You cannot copy content of this page

NCERT class 10 English First Flight Chapter 5 summary The Hundred Dresses — | (notes) explained (translation) in hindi

The Hundred Dresses – I Summary In English

Wanda Petronski’s Seat
It was Monday. Wanda Petronski was not in her seat. Nobody including Peggy and Madeline saw her absence. They started all the fun. Wanda’ used to sit in the next to the last seat in the last row. It was in Room 13. She sat in the corner of the room. Rough boys usually sat there. There was the most noise of the feet when some fun occurred.

More about Wanda
Wanda was a very quiet girl. She rarely said something. No one had ever heard her laugh out loud. She used to sit there. No one knew why. It was because she came from Boggins Heights. Her feet had mud on them.

 

When they thought of Wanda
The students thought of Wanda only outside the school hours. They waited for her to have fun with her going to or coming from home. Wanda did not come to school on Tuesday also.

Of Peggy and Maddie
On Wednesday Peggy and Maddie thought of Wanda. They sat in the front. They got good marks. Peggy was the most popular in school. She was pretty and had curly hair. Maddie was her closest friend. They wanted to have fun with Wanda. So they got late. Due to this they saw that Wanda was absent.

Of other children
Most of the children in that room didn’t have names like that of Wanda. They had American names like Thomas, Smith or Allen. There was a boy named, Willie Bounce. People thought that he was funny. But he was not funny like Wanda Petronski.

Wanda and the other children in School
Wanda didn’t have any friends. She always wore a faded blue loose dress. It was clean. But it looked as if it had never been ironed. A lot of girls talked to Wanda. They surrounded her in the school yard. She stood looking at them playing hopscotch.

Girls make fun of Wanda
Peggy would make fun of Wanda. She would ask her how many dresses she had in her almirah. Wanda would say ‘A hundred’. Then all the girls would stop playing and listen. The girls would aslj if they were of silk or velvet. Wanda would reply in positive. They would further ask Wanda how many pairs of shoes she had. She would say ‘sixty pairs’. Then they would laugh and laugh.

More of Peggy
Peggy was not cruel. She protected small children from bullies. If somebody asked her if she didn’t behave cruelly with Wanda she would reply differently. She would say why Wanda had spoken of her hundred dresses. She would say that Wanda was not an ordinary person. Her name suggested that. But the girls never made Wanda cry.

Of Maddie
Maddie felt it bad that they had been bothering Wanda like that. It was because like Wanda she herself was poor. But she neither lived in Boggins Heights nor had a funny name like that of Wanda.

Maddie’s feelings about Wanda
When Peggy asked Wanda those questions, Maddie would feel bad. She would study the marbles in her hand. But she did not feel sorry for Wanda. She wished Peggy stop asking Wanda about dresses. She was Peggy’s closest friend.

Maddie’s desire for Peggy
That day both Peggy and Maddie were late to school. Maddie was glad that Wanda was not made fun of. She was working out her arithmetic problems. She lacked courage to ask Peggy stop making fun of Wanda. So she wanted to write Peggy a note about it.

Maddie pictures herself being made fun of
Maddie started writing that note to Peggy. Suddenly she shook. She pictured herself in the school yard as a new target for Peggy and the girls. Peggy might ask her about her dress. She would say that it was one of Peggy’s old ones. Her mother had trimmed it so that no one would recognise it.

Maddie’s thought
Maddie wished Peggy stopped making fun of Wanda. Maddie tore the note into pieces. She was Peggy’s best friend. Peggy was the most liked girl in the whole room. She thought Peggy would not do anything that was really wrong.

Maddie thinks of Wanda
Maddie thought of Wanda then. She hardly said anything to anybody. She only spoke of the hundred dresses. Maddie remembered her telling about one of her dresses, pale blue with coloured trimmings.

Maddie’s thought about the drawing contest
After that Maddie started thinking who would win the drawing and colour contest. She thought Peggy would win the girls’ medal. She drew better than anyone else in the room. They would all know about that the next day.

In the school the next day
The next day it drizzled. Peggy and Maddie did not wait for Wanda. They did not want to be late to school. They entered the classroom. There were drawings and drawings all over the room. They were in bright colours.

Winners announced
The class had assembled. Miss Mason announced the winners. Jack Beggles had won for the boys. He had sketched an outboard motor. The drawing was displayed in room 12. As for the girls Wanda was the winner of the girls’ medal. But Wanda was absent that day. Miss Mason asked the children to look at Wanda’s beautiful drawing.

Reaction of Peggy and Maddie to Wanda’s drawings
Seeing the drawing, the children clapped their hands in joy. The boys whistled with fingers in their mouths. They were not interested in dresses. Maddie whispered to Peggy to look at the blue dress. Wanda had told them about it earlier. Peggy referred to the green one also. She added that she had thought she could draw.

The Hundred Dresses – I Summary In Hindi

वाण्डा पैट्रोनस्की की सीट
सोमवार का दिन था। वाण्डा पैट्रोनस्की अपनी सीट में नहीं थी। पैगी और मैडलीन को मिलाकर किसी ने भी उसकी अनुपस्थिति को नहीं देखा था। उन्होंने सारा मजाक आरम्भ किया। वाण्डा अन्तिम पंक्ति में अन्तिम सीट से अगली सीट में बैठा करती थी। यह तेरह नम्बर कमरे में थी। वह कमरे के कोने में बैठा करती थी। प्रायः उद्धत लड़के सामान्यतः वहाँ पर बैठा करते थे। वहाँ पर पैरों का काफी शोर हुआ करता था जब कोई मजाक उत्पन्न होता।

वाण्डा के बारे में और अधिक
वाण्डा बड़ी शान्त लड़की थी। वह कभी-कभी ही कुछ कहती। किसी ने भी उसे कभी भी ऊँची आवाज में हँसते नहीं सुना था। वह वहाँ पर बैठा करती थी। कोई नहीं जानता था कि वह वहाँ क्यों बैठा करती थी। यह इसलिए था कि वह बौगिन्ज हाईट्स से आती थी। उसके पैरों पर मिट्टी लगी होती थी।

जब उन्होंने वाण्डा के बारे में सोचा।
विद्यार्थी वाण्डा के बारे में स्कूल के समय के पश्चात् ही सोचा करते थे। वे उसका मजाक उड़ाने के लिए, घर को जाते और घर से आते, उसकी प्रतीक्षा किया करते थे। वाण्डा मंगलवार को भी स्कूल नहीं आती थी। पैगी और मैडी के बारे में पैगी और मैडी बुधवार को वाण्डा के बारे में सोचा। वे अगली सीट पर बैठा करती थीं। वे अच्छे अंक प्राप्त करती थीं।

पैगी स्कूल में सर्वाधिक लोकप्रिय थी।
वह सुन्दर थी और उसके मुँघराले बाल थे। मैडी उसकी सर्वाधिक गहरी सहेली थी। वे वाण्डा के साथ मजाक करना चाहती थीं। इसलिए वे लेट हो गई। इस कारण से । उन्होंने देखा कि वाण्डा अनुपस्थित थी।

दूसरे बच्चों के बारे में।
उस कमरे में अधिक बच्चों के नाम वाण्डा की तरह नहीं थे। उनके अमेरिकन नाम थे, जैसे-टोमस, स्मिथ या ऐलन। एक लड़का विल्ली बाउन्स नाम का था। लोग सोचते थे कि वह मजाकिया था। परन्तु वह वाण्डा पैट्रोनस्की की तरह से मजाक उड़ाने योग्य नहीं था।

स्कूल में वाण्डा और दूसरे बच्चे
वाण्डा के कोई मित्र नहीं थे। वह हमेशा एक मन्द पड़ी नीले रंग की ढीली पोशाक पहना करती थी। यह साफ थी। परन्तु ऐसा लगता था कि इसको कभी इस्त्री नहीं की गई थी। काफी लड़कियाँ वाण्डा से बातें करती थीं। वे उसे स्कूल के आंगन में घेर लेतीं। वह उन्हें होपस्कोच खेल खेलते हुए देखती खड़ी रहती।

लड़कियों द्वारा वाण्डा का मजाक उड़ाना
पैगी वाण्डा का मजाक उड़ाती। वह उससे पूछती कि उसके पास उसकी अलमारी में कितनी पोशाकें हैं। वाण्डा कहती ‘एक सौ’। फिर सारी लड़कियाँ खेलना बन्द करतीं और सुनतीं। लड़कियाँ पूछतीं कि क्या वे सिल्क या मखमल की थीं। वाण्डा हाँ में उत्तर देती। वे वाण्डा से आगे पूछतीं कि उसके पास जूतों के कितने जोडे हैं। वह कहती ‘साठ जोडे। तब वे हँसती रहतीं।

पैगी के बारे में और अधिक
पैगी निर्दयी नहीं थी। वह छोटे बच्चों को धौसिया लड़कों से बचाती। यदि कोई उसे पूछता कि क्या उसने वाण्डा के साथ निर्दयता से बर्ताव नहीं किया है तो वह भिन्न रूप में उत्तर देती। वह कहती कि वाण्डा ने अपनी एक सौ पोशाकों के बारे में क्यों कहा। वह कहती कि वाण्डा एक साधारण व्यक्ति नहीं थी। उसका नाम यह बताता था। परन्तु लड़कियों ने कभी भी वाण्डा को चिल्लाने पर मजबूर नहीं किया।

मैडी के बारे में
मैडी ने इसे बुरा अनुभव किया कि वे वाण्डा को उस प्रकार तंग कर रहे थे। यह इसलिए था कि वह स्वयं भी वाण्डों की तरह से निर्धन थी। परन्तु वाण्डा की तरह वह न तो बोगिन्ज हाईट्स में रहती थी न ही उसका वाण्डा जैसा मजाकिया नाम था।

वाण्डा के बारे में मैडी की भावनाएँ
जब पैगी ने वाण्डा से वे प्रश्न पूछे तो मैडी ने बुरा महसूस किया। उसने अपने हाथ में कन्चों को जाँचा। परन्तु उसने वाण्डा के लिए दुख नहीं दिखाया। वह चाहती थी कि पैगी वाण्डा से पोशाकों के बारे में पूछना बन्द करे। वह पैगी की निकटतम मित्र थी।

मैडी की पैगी के लिए इच्छा
उस दिन पैगी और मैडी दोनों स्कूल से लेट हो गईं। मैडी खुश थी कि वाण्डा का मजाक नहीं उड़ाया गया। वह गणित के अपने प्रश्नों को हल कर रही थी। उसके अन्दर पैगी को वाण्डा को मजाक उड़ाना बन्द करने के लिए कहने का हौंसला नहीं था। इसलिये वह पैगी को इसके बारे में एक नोट लिखना चाहती थी।

मैडी स्वयं को उसका मजाक उड़ाया जाते हुए चित्रित करती है
मैडी ने पैगी को वह नोट लिखना आरम्भ किया। अचानक वह काँप उठी। उसने स्वयं को स्कूल आँगन में पैगी और दूसरी लड़कियों का नया निशाना देखा। पैगी उसे उसकी पोशाक के बारे में पूछ सकती थी। वह कहती कि वह पैगी की पुरानी पोशाकों में से एक है। उसकी माँ ने उसे ठीक कर दिया था ताकि कोई भी उसे पहचान न सके।

मैडी का विचार
मैडी चाहती थी कि पैगी वाण्डा का मजाक उड़ाना बन्द कर दे। मैड़ी ने नोट के टुकड़े-टुकड़े कर दिये। वह पैगी की गहरी सहेली थी। सारे कमरे में पैगी को सबसे अधिक पसन्द किया जाता था। वह सोचती थी कि पैगी कोई भी ऐसी चीज नहीं करेगी जो वास्तव में गलत हो।

मैड़ी का वाण्डा के बारे में सोचना
मैड़ी ने तब वाण्डा के बारे में सोचा। वह किसी से भी कभी कोई बात कहती थी। उसने सिर्फ एक सौ पोशाकों के बारे में कहा। मैडी को उस द्वारा उसकी पोशाकों में एक पीली नीली रंगीन सजावटों वाली पोशाक के बारे में बताना याद था।

ड्राईंग मुकाबले के बारे में मैडी का विचार
उसके पश्चात् मैडी ने सोचना आरम्भ कर दिया कि कौन ड्राईंग और रंग का मुकाबला जीतेगा। उसने सोचा कि पैगी लड़कियों को तमगा जीतेगी। कमरे में वह सबसे अच्छी ड्राईंग करती थी। वे सभी उस बारे में अगले दिन जान जायेंगे।

अगले दिन स्कूल में
अगले दिन बृन्दाबान्दी हुई। पैगी और मैडी ने वाण्डा की प्रतीक्षा नहीं की। वे स्कूल में लेट होना नहीं चाहती थीं। वे कक्षा के कमरे में घुसीं। सारे कमरे में ड्राईंग ही ड्राईंग थीं। वे चमकीले रंगों में थीं।

विजेताओं की घोषणा
कक्षा इकट्ठी हो गई थी। मिस मैसन ने विजेताओं की घोषणा की। जैक बैगल्ज़ ने लड़कों के लिये विजय प्राप्त कर ली थी। उसने बोर्ड के ऊपर लगी मोटर की ड्राईंग बनाई थी। बारह नम्बर कमरे में ड्राईंग प्रदर्शित थी। जहाँ तक लड़कियों का प्रश्न था लड़कियों के तमगे की विजेता वाण्डा थी। परन्तु उस दिन वाण्डा अनुपस्थित थी। मिस मैसन ने बच्चों को वाण्डा की सुन्दर ड्राईंग को देखने के लिये कहा।

वाण्डा की ड्राईंग के प्रति पैगी और मैडी की प्रतिक्रिया
ड्राईंग देखकर बच्चों ने खुशी में तालियाँ बजाईं। लड़कों ने अपनी अंगुलियों को मुँह में डालकर सीटी बजाई। उनका पोशाकों में कोई मन नहीं था। मैड़ी ने पैगी को नीली पोशाक को देखने के लिये कानाफूसी की। वाण्डा ने पहले उन्हें इनके बारे में बताया था। पैगी ने हरी पोशाक की तरफ भी इशारा किया। उसने कहा कि वह सोचती थी कि वह ड्राईंग बना सकती थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Free Web Hosting