You cannot copy content of this page

NCERT class 10 English First Flight Chapter 6 summary The Hundred Dresses — || (notes) explained (translation) in hindi

The Hundred Dresses – II Summary In English

Miss Mason reads Wanda’s father’s letter
The class was circling the room. A notice from the principal’s office came. Miss Mason read it and clapped her hands. She announced that she had a letter from Wanda’s father. She would read that before the class.

Letter read out
Miss Mason got ready to read the letter. All the students also got ready to listen. Wanda’s father wrote in the letter. He wrote that Wanda and Jake won’t come to the school any more. They were moving away to a big city. No more silly jokes. No more funny names.

 

Reaction to the letter
There was a deep silence. Miss Mason understood. She told that no one will hurt anyone’s feelings. It was because his or her name was long. What had happened was bad. She asked them to think about that.

Maddie’s reaction at personal level
Maddie could not put her mind to work even in the first period. It was true that she never enjoyed Peggy’s asking Wanda about hundred dresses. She had said nothing. She stood silently. But that was also bad. She was a coward. Peggy never thought that they were mean.

Maddie’s decision
Maddie wondered if she could do something. She wished she could tell Wanda that she hadn’t meant to insult her. She looked at Peggy. Maddie decided to do something. She would find out Wanda Petronski. She and Peggy would climb the Heights. They would tell Wanda that she had won the contest.

Peggy’s mind about Wanda
The school was over. In the afternoon Peggy told Maddie casually to go to Wanda’s house. Peggy told Maddie that she never called her a foreigner. She never thought that Wanda could sense being made fun of. She thought that Wanda was too dumb.

Maddie’s mind about Wanda
Maddie said nothing. She hoped they would find Wanda. She wanted to tell her that they were sorry. She would tell her not to move away to another place.

Wanda’s house reached
At last Peggy and Maddie reached Wanda’s house in the Heights. The house looked shabby but clean. It reminded Maddie of Wanda’s one dress. There was no sign of life there. Peggy knocked on the door. But there was no response. The Petronski had gone. How could they regret ?

Peggy’s thoughts about Wanda
Peggy told Maddie that they couldn’t do anything then. When she asked Wanda about her dress, she had been getting good ideas about her drawings. She might not have won the contest without that.

Maddie at night
Maddie thought about this idea of Peggy. That night she could not sleep. She thought of Wanda, her dress and her house. She thought and thought. At last she reached an important conclusion. She decided to say something if anyone made fun of the other before her. She could lose Peggy’s friendship for that. She would never make anybody unhappy.

Peggy and Maddie write a letter to Wanda
On Saturday Maddie was with Peggy. They were writing a letter to Wanda. It was just a friendly letter. They praised Wanda’s drawings. They had meant to say that theywere sorry. They mailed the letter to Boggins Heights.

No reply from Wanda
There came no reply from Wanda to that letter. Peggy had begun to forget it. Maddie tried to sleep making speeches about Wanda.

Wanda’s letter to Miss Mason
It was Christmas time. On the last day of school Miss Mason showed the class a letter from Wanda. It was addressed to her. Miss Mason read out the letter to the class.

About Wanda’s letter
Wanda wrote to Miss Mason to tell the girls that they could keep those hundred dresses. In her new houie they had a hundred new ones. She wanted Peggy to have the drawing of the green dress with the red trimming. Maddie could have the blue one. She wished Merry Christmas to all.

Reaction of Peggy to it
On way home Maddie and Peggy held their drawings very carefully. All the houses had been decorated beautifully. The air smelled like Christmas. Light reflected different colours on the snow. Peggy told that Wanda’s letter showed that she had got their letter. She liked the place. She also liked them. She had a different way to show that.

About the drawing given to Maddie
Maddie thought differently. She felt sad that she won’t see Wanda again. She couldn’t ever really make things right between them. She pinned the drawing in the bedroom. She looked at it and said nothing. She felt Wanda had been nice to her. She had tears in her eyes. She studied the drawing carefully. She noticed the face and head of the drawing. It looked like her own head and mouth. Wanda had drawn it for her. She ran to Peggy to tell all this.

Maddie and Peggy together
Maddie told Peggy that Wanda had drawn the drawing for her. Actually she had drawn both of them in her drawings. Peggy told Maddie that she did not say that Wanda had liked them, anyway. Maddie agreed. She had tears when she thought of Wanda looking at the laughing girls. There were a hundred of them there.

The Hundred Dresses – II Summary In Hindi

मिस मैसन द्वारा वाण्डा के पिता का पत्र पढ़ना
कक्षा कमरे का चक्कर लगा रही थी। प्रिन्सिपल के दफ्तर से एक नोटिस आया। मिस मैसन ने इसे पढ़ा और अपने हाथ थपके। उसने घोषणा की कि उसके पास वाण्डा के पिता का एक पत्र प्राप्त हुआ। वह उसे कक्षा के सामने पढ़ेगी।

पत्र का पढ़ा जाना
मिस मैसन पत्र पढ़ने के लिए तैयार हो गई। सभी विद्यार्थी भी सुनने के लिए तैयार हो गए। पत्र में वाण्डा के पिता ने लिखा। उसने लिखा कि वाण्डा और जेक अब और स्कूल में नहीं आएँगे। वे एक बड़े शहर में जा रहे हैं। और अधिक बेहूदे मजाक नहीं। न ही मजाकिए नाम।

पत्र के प्रति प्रतिक्रिया
गहरी शान्ति छा गई। मिस मैसन समझ गई। उसने बताया कि कोई भी किसी की भावनाओं को ठेस नहीं पहुँचायेगा। यह इसलिए था कि उसका नाम लम्बा था। जो कुछ हुआ था वह बुरा हुआ था। उसने उन्हें उसके बारे में सोचने के लिए कहा।

व्यक्तिगत स्तर पर मैडी की प्रतिक्रिया
मैडी पहले पिरियड में भी अपने मन को काम पर नहीं लगा सकी। यह सच था कि उसे कभी पैगी के द्वारी वाण्डा को एक सौ पौशाकों के बारे में पूछना अच्छा नहीं लगा था। उसने कुछ नहीं कहा था। वह शान्त खड़ी रही। परन्तु वह भी बुरा था। वह डरपोक थी। पैगी ने कभी नहीं सोचा था कि वे कमीने हैं।

मैडी का निर्णय
मैडी को आश्चर्य था कि क्या वह कुछ कर सकती थी। वह चाहती थी कि वह वाण्डा को बता सकती कि उसका अर्थ उसका अपमान करने का नहीं था। उसने पैगी की तरफ देखा। मैडी ने कुछ करने का निर्णय लिया। वह वाण्डा पैट्रोनस्की को ढूंढेगी। वह और पैगी हाईट्स जाएँगें। वे वाण्डा को बताएँगी कि वह मुकाबला जीत गई थी।

वाण्डा के बारे में पैगी का मन
स्कूल बन्द हो गया था। दोपहर पश्चात् पैगी ने मैडी को वाण्डा के घर जाने के लिए सहज भाव में कहा। पैगी ने मैडी को बताया कि उसने उसे कभी भी विदेशी नहीं कहा था। उसने कभी नहीं सोचा था कि वाण्डा उसका मजाक उड़ाए जाने के बारे में सोचेगी। उसने सोचा था कि वाण्डा एकदम गुँगी थी।

वाण्डा के बारे में मैडी का मन
मैडी ने कुछ नहीं कहा। उसे आशा थी कि वे वाण्डा को ढूंढ निकालेंगे। वह उसे बताना चाहती थी कि उन्हें दुख था। वह उसे बताएगी कि वह वहाँ से दूसरे स्थान पर न जाए।

वाण्डा के घर पहुँचना।
आखिरकार पैगी और मैडी हाईट्स में वाण्डा के घर पहुँच गए। घर टूटा-फूटा परन्तु साफ दिखाई देता था। उसने मैडी को वाण्डा की एक पोशाक याद दिला दी। वहाँ पर जीवन का कोई निशान नहीं था। पैगी ने दरवाजे को खटखटाया। परन्तु कोई उत्तर नहीं मिला। पैट्रानस्की जा चुके थे। वे कैसे पश्चाताप करेंगी ?

वाण्डा के बारे में पैगी के विचार
पैगी ने मैडी को बताया कि वे उस समय कुछ नहीं कर सकती थीं। जब उसने वाण्डा को उसकी पोशाक के बारे में पूछा था तो उसे उसकी ड्राइंगों के बारे में अच्छे विचार आ रहे थे। वह सम्भवतः उसके बिना मुकाबला नहीं जीत सकती थी।

रात को मैडी
मैड़ी ने पैगी के इस विचार के बारे में सोचा। उस रात वह सो नहीं सकी। उसने वाण्डा, उसकी पोशाक और उसके घर के बारे में सोचा। वह सोचती ही रही। आखिरकार वह एक महत्त्वपूर्ण परिणाम पर पहुँची। उसने यदि किसी ने उसके सामने किसी दूसरे का मजाक उड़ाया तो उसे कुछ कहने का निर्णय लिया। वह उसके लिए पैगी की मित्रता भी छोड़ सकती थी। वह किसी को कभी भी उदास नहीं बनाएगी।

पैगी और मैडी द्वारा वाण्डा को पत्र लिखना।
शनिवार को मैडी पैगी के साथ थी। वे वाण्डा को एक पत्र लिख रही थीं। यह केवल मैत्रीय पत्र था। उन्होंने वाण्डा की ड्राईंगों की प्रशंसा की। उनके कहने का अर्थ था कि उन्हें दुख था। उन्होंने पत्र को बोगिन्ज हाईट्स भेज दिया।

वाण्डा की तरफ से कोई उत्तर नहीं
उस पत्र के संदर्भ में उन्हें वाण्डा की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला। पैगी ने इसे भूलना आरम्भ कर दिया था। मैडी ने वाण्डा के बारे में भाषण करते हुये सोने की कोशिश की। मिस मैसन को वाण्डा का पत्र क्रिसमस का समय था। स्कूल के अन्तिम दिन मिस मैसन ने क्लास को वाण्डा का एक पत्र दिखाया। यह पत्र उसके नाम था। मिस मैसन ने पत्र को क्लास में पढ़कर सुनाया।

वाण्डा के पत्र के बारे में
वाण्डा ने मिस मैसन को लड़कियों को यह बताने के लिये पत्र लिखा कि वे उन सौ पोशाकों को रख सकती थीं। उसके नये घर में उसके पास सौ नई पोशाके हैं। वह चाहती थी कि पैगी लाल सजावट वाली हरी पोशाक की ड्राईंग रखे। मैडी नीली वाली पोशाक रख सकती थी। उसने सभी को क्रिसमस की शुभकामना दी।

इस पर पैगी की प्रतिक्रिया
घर वापसी पर मैडी और पैगी ने अपनी ड्राइंगों को ध्यानपूर्वक पकड़ा। सारे घरों को सुन्दरता से सजाया गया था। हवा में क्रिसमस की तरह की खुशबू थी। बर्फ पर रोशनी अलग अलग रंग फेंक रही थी। पैगी ने बताया कि वाण्डा के पुत्र ने दिखा दिया था कि उसे उनका पत्र मिल गया था। उसे स्थान पसन्द था। वह उन्हें भी पसन्द करती थी। उसका वह दिखाने का अलग तरीका था।

मैडी को दी गई ड्राईंग के बारे में
मैडी ने भिन्नता से सोचा। उसने दु:ख महसूस किया कि वह वाण्डा से फिर कभी नहीं मिल पायेगी। उनके बीच में वह वास्तव में चीजों को कभी सही नहीं कर पायेगी। उसने बैडरूम में ड्राईंग टांग दी। उसने इस पर देखा और कुछ नहीं कहा। उसने महसूस किया कि वाण्डा उसके प्रति ठीक थी। उसकी आँखों में आंसू थे। उसने ड्राईंग को ध्यानपूर्वक पढ़ा। उसने ड्राईंग का चेहरा और सिर देखा। यह उसके अपने सिर और मुँह की तरह से दिख रहा था। वाण्डा ने इसे उसके लिये चित्रित किया था। वह यह सब सुनाने के लिए पैगी की तरफ दौड़कर गई।

मैडी और पैगी एक साथ
मैड़ी ने पैगी को बताया कि वाण्डा ने ड्राईंग को उसके लिये बनाया था। वास्तव में उसने अपनी इाइंगों में इन दोनों को चित्रित किया था। पैगी ने मैडी को बताया कि उसने यह नहीं कहा था कि वाण्डा ने किसी भी प्रकार उन्हें पसन्द किया था। मैडी रजामन्द हो गई। उसकी आँखों में आँसू थे जब उसने हँसती लड़कियों को देखते हुए वाण्डा के बारे में सोचा। वहाँ पर वे एक सौ के बराबर थीं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Free Web Hosting