You cannot copy content of this page

NCERT class 10 English Literature Chapter 2 summary Mrs. Packletide’s Tiger (notes) explained (translation) in hindi

Mrs. Packletide’s Tiger Summary In English

Introduction
‘Mrs Packletide’s Tiger’ shows womanly vanity, hypocrisy and jealousy in a humorous way. Mrs Packletide pre-arranges the tiger hunt. It brings out the taunt of the author on womanhood. To show herself more than Loona Bimberton she has to part with a lot of money to hush up Louisa Mebbin.

 

What makes Mrs Packletide to hunt a tiger ?
Mrs Packletide now wished to hunt a tiger. The compelling motive behind it was that Loona Bimberton had been carried in an aeroplane. She talked of nothing else except this and this made Mrs Packletide jealous of her. To counter her fame, a tiger-skin out of hunting and lots of press photographs were necessary. She had arranged in her mind to belittle Loona Bimberton in a lunch that she would organize in her (Loona Bimberton) honour. She would then offer her a tiger-claw brooch on her next birthday.

Arranging for an old tiger for the hunt
Circumstances proved favourable. Mrs Packletide offered the villagers a thousand rupees for shooting a tiger. It happened that a neighbouring village had had a tiger. It had left game-hunting and grown old and weak. This money made the villagers post children to head the tiger back there. A day was finally fixed for Mrs Packletide to hunt it. The one great anxiety was lest the tiger should die of old age before the date of hunting. Women crossing the forest were asked not to sing aloud lest the tiger’s sleep should get disturbed.

The night of the tiger hunt
All arrangements for hunting the tiger were made properly. On the night when Mrs Packletide was to hunt the tiger, she sat on a platform made in tree. With her sat Louisa Mebbin, her paid companion. They had playing cards to pass the time. A goat was tied at a distance as a bait for the tiger.

Louisa Mebbin’s strange questions
Louisa Mebbin told Mrs Packletide that she was in danger. But Mrs Packletide told her that she wasn’t as the tiger was very old. Louisa Mebbin asked her if that was so she must have got it cheaper. A thousand rupees for it were a lot of money in those days.

More of Louisa Mebbin
Louisa Mebbin was a very cunning and crafty woman. She never wanted that money should be spent uselessly. She would never be happy even to pay tips to the waiters. She never served more than she was paid for.

The tiger arrives on the scene
Mean while the old tiger appeared on the scene. It saw the tethered goat and lay flat on the earth. It did so to take a little rest before attacking the goat. Louisa Mebbin told Mrs Packletide that if the tiger didn’t touch the goat they won’t pay any money to the villagers.

Death of the tiger and the goat
Just then Mrs Packletide fired a shot. The tiger was killed. Louisa Mebbin told Mrs Packletide that the shot had killed the goat. The tiger had died due to heart failure as it was very old. Mrs Packletide got annoyed at this discovery. Louisa Mebbin being a paid companion kept quiet.

Mrs Packletide’s victory and Loona Bimberton’s reaction
Mrs Packletide faced the cameras with a pride. Texas Weekly Snapshot and Novoe Vremya magazines published her photos. Loona Bimberton refused to see these photographs. She also declined the luncheon party organised by Mrs Packletide. She, however, received the gift of a tiger-claw brooch with repressed emotions.

Louisa Mebbin’s blackmailing Mrs Packletide
Louisa Mebbin told Mrs Packletide that all would be amused if they knew how she shot the goat dead and frightened the tiger to death. When Louisa Mebbin told her that Loona Bimberton would be amused, Mrs Packletide pleaded that she shouldn’t do so. Louisa told her that she had seen a week-end cottage named ‘Les Fauves’ (The Wild Animals). It was very beautiful with tiger-lilies. All her friends admired it. Mrs Packletide bought this for Louisa Mebbin to keep her mouth shut.

Mrs Packletide’s refusal to hunt
Mrs Packletide stopped game hunting. On being asked why she would say that the incidental charges were very high.

Summary of Chapter Mrs. Packletide’s Tiger In Hindi

प्रस्तावना
‘Mrs Packletide’s Tiger’ महिलाओं का गर्व, बगुलाभगतपन (पाखण्ड) और ईष्र्या को एक हास्यास्पद तरीके से दर्शाता है। Mrs Packletide बाघ के शिकार का पहले ही से प्रबन्ध करती है। यह लेखक के नारी जाति पर व्यंग्य को दिखाता है। स्वयं को Loona Bimborton से अधिक दिखाने के लिये उसे Louisa Mebbin को चुप रखने में काफी धन से अलग होना पड़ता है।

Mrs Packletide क्यों बाघ का शिकार करती हैं ?
Mrs Packletide अब एक बाघ का शिकार करना चाहती थी। इसके पीछे मजबूर करने वाला उद्देश्य था कि Loona Bimberton को हवाईजहाज में घुमाया गया था। वह इसके सिवाय कुछ और के बारे में बातें नहीं करती थी और इसने Mrs Packletide में उसके प्रति ईष्र्या उत्पन्न कर दी। उसकी प्रसिद्धि को रोकने के लिये शिकार द्वारा प्राप्त की गई बाघ की खाल और समाचारों के काफी फोटो आवश्यक थे। उसने अपने मन में L00rna Bimberton को उसकी (Lo0na Birnberton) शान में दोपहर के भोजन जिसका वह प्रबन्ध करेगी में उसे नीचा दिखाना सोच लिया था। तब उसके अगले जन्मदिन पर वह उसे बाघ के पंजे से बना एक जड़ाऊ पिन देगी।

शिकार के लिये एक बूढ़े बाघ का प्रबन्ध करना
हालात ठीक सिद्ध हुये। बाघ का शिकार करने के लिये Mrs Packletide ने गाँव वालों को एक हजार रुपये पेश किए। ऐसे हुआ कि पड़ोस के गाँव में एक बाघ मिल गया। इसने शिकार करना छोड़ दिया था और बूढ़ा और कमजोर हो गया था। इस पैसे के कारण गाँव वालों ने बाघ को वहाँ वापस लाने के लिये बच्चों | को लगा दिया। अन्त में Mrs Packletide के लिये उसका | शिकार करने का एक दिन निर्धारित कर लिया गया। एक बड़ी । चिन्ता थी कि, बुढापे के कारण शिकार की तारीख से पहले बाघ | कहीं मर न जाये। जंगल पार करती महिलाओं को ऊँचा न गाने के लिये कहा गया ताकि बाघ की नींद में विघ्न न हो।

बाघ के शिकार की रात
बाघ का शिकार करने के लिए उचित रूप में सभी प्रबन्ध किये गये। उस रात जब Mrs Packletide को बाघ का शिकार करना था वह वृक्ष में बने एक प्लेटफार्म पर बैठ गई। उसके साथ उसको साथी Louisa Mebbin जिसे पैसे दिये गये थे बैठी। समय व्यतीत करने के लिये उनके पास ताश के पत्ते थे। बाघ के लिये चारे के रूप में एक बकरी कुछ फासले पर बाँध दी गई।

Louisa Mebbin के अजीब प्रश्न
Louisa Mebbin ने Mrs Packletide को बताया कि वह खतरे में थी। परन्तु Mrs Packletide ने उसे कहा कि वह (खतरे में नहीं थी क्योंकि बाघ काफी बूढ़ा था। Louisa Mebbin ने उसे पूछा कि यदि ऐसा था तो उसे वह सस्ते में मिल जाता। इसके लिये उन दिनों एक हजार रुपये काफी बड़ा धन था।

Louisa Mebbin के बारे में और अधिक।
Louisa Mebbin बहुत चालाक और धूर्त महिला थी। वह कभी नहीं चाहती थी कि धन बेकार में खर्च हो। वह बैरों को टिप्स देने में भी कभी खुश नहीं थी। उसने जितने पैसे उसे मिलने होते थे उससे अधिक कभी सेवा नहीं की।

बाघ का नजर आना
इस बीच बूढा बाघ नजर आ गया। उसने बँधी हुई बकरी को देखा और पृथ्वी पर सपाट लेट गया। उसने बकरी पर आक्रमण करने से पहले थोड़ा आराम करने के लिये ऐसा किया। Louisa Mebbin ने Mrs Packletide को बताया कि यदि बाघ ने बकरी को नहीं छुआ तो वे गाँव वालों को कोई पैसा नहीं देंगे।

बाघ और बकरी की मृत्यु
उसी समय Mrs Packletide ने गोली चला दी। बाघ मर गया। Louisa Mebbin ने Mrs Packletide को बताया कि गोली ने बकरी को मार दिया। बाघ की मृत्यु दिल फेल होने से हुई थी क्योंकि यह काफी बूढ़ा था। इस खोज पर Mrs Packletide काफी गुस्सा हुई। Louisa Mebbin पैसे मिलने | के लालच के कारण चुप रही।

Mrs Packletide की जीत और L00na Bimberton की प्रतिक्रिया
Mrs Packletide ने कैमरों का सामना गर्व के साथ | किया। Teras Weekly Snapshot और Novoe Vreniya पत्रिकाओं ने उसके फोटों छापे। Loona Bimberton ने इन फोटुओं को देखने से मना कर दिया। उसने Mrs Packletide द्वारा दी गई लंच पार्टी के लिये भी मना कर दिया। फिर भी उसने दबी भावनाओं से बाघ के पंजे जैसा बना उपहार ले लिया।

Louisa Mebbin का Mrs Packletide से दबाव से धन लूटना
Louisa Mebbin ने Mrs Packletide को बताया कि सभी को मन-बहलाव होगा यदि वे जानेंगे कि कैसे उसने बकरी को मारा और बाघ को डरा कर मारा। जब Louisa Mebbin ने उसे बताया कि Lo0na Bimberton खुश होगी तो Mrs Packletide ने प्रार्थना की कि उसे ऐसा नहीं करना चाहिये। Louisa ने उसे बताया कि उसने सप्ताहान्त समय व्यतीत करने के लिये Les Fauves’ (The Wild Animals) कॉटेज देखी हैं। Tiger-lilies फूलों वाली यह कॉटेज काफी सुन्दर है। उसके सभी मित्रों ने इसकी प्रशंसा की है। Mrs Packletide ने उसे Louisa Mebbin का मुंह बन्द रखने के लिये उसके लिए खरीद लिया।

Mrs Packletide का शिकार करने से मना करना
Mrs Packletide ने शिकार करना बन्द कर दिया। उसके ऐसा करने का कारण पूछने पर उसने उत्तर दिया कि प्रासंगिक खर्चे काफी अधिक हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Free Web Hosting