You cannot copy content of this page

NCERT class 10 English Literature Chapter 9 summary Not Marble , Nor The Gilded Monuments (notes) explained (translation) in hindi

Not Marble, nor the Gilded Monuments Summary In English

Poet’s beloved and gilded monuments
The poet addresses this sonnet to his beloved or friend. He says that marbled or gilded monuments built in memories of princes etc, shall not outlive this sonnet. His beloved , shall shine more bright in this sonnet than these stoned monuments. These have been left uncared for and are now spoiled by unclean behaviour of time.

His beloved’s memory and ruin by wars etc
The poet says further that wasteful wars shall destroy these statues and monuments. Fights or wars shall ruin the work of masonry, that is, these structures. When this happens, this will not destroy this sonnet which records p her memory. Even the sword of Mars, the god of war, or wars’ fast moving fire shall not destroy it.

Beloved’s memory remaining to doomsday
The poet’s beloved shall go ahead against death and all enmity which forgets things and seeks to destroy them. Her praise in this sonnet shall have a place even in posterity. It will survive this world even to the doomsday.

Beloved’s immortality
The poet says further that his beloved shall outlive the judgement day. She will always live in this sonnet and shall also live forever in her lover’s eyes.

Not Marble, nor the Gilded Monuments Summary In Hindi

कवि की प्रेमिका और सोने के पानी से ढके स्मारक
कवि इस कविता को अपनी प्रेमिका या मित्र के प्रति सम्बोधित करता है। वह कहता है कि राजकुमारों की याद में संगमरमर के बने और सोने का पानी चढे स्मारक इस कविता के बाद नहीं रहेंगे। उसकी प्रेमिका इस कविता में इन पत्थरों के स्मारकों से अधिक चमकेगी। इन स्मारकों को बिना इनकी परवाह किये छोड़ दिया है और अब ये समय के मलिन व्यवहार द्वारा विध्वंसित किये जा रहे

उसकी प्रेमिका की यादगार और यद्ध आति से विनाश
कवि आगे कहता है कि नष्ट करने वाले युद्ध इन बुतों और स्मारकों को नष्ट कर देंगे। लड़ाइयाँ और युद्ध राजगीरों के कार्य, अर्थात्, इन संरचनाओं को नष्ट कर देंगे। जब ऐसा होगा यह इस कविता को नष्ट नहीं करेगा जो उसकी यादगार का रिकार्ड है। लड़ाइयों की तेज फैलती आग या लड़ाई के देवता माजं की तलवार भी इसे नष्ट नहीं कर सकेगी।

प्रेमिका की यादगार का प्रलय तक रहना
कवि की प्रेमिका मृत्यु का और शत्रुता जो सारी चीजों को भूल जाती है और विनाश करती है का भी सामना करेगी। इस कविता में उसकी प्रशंसा भविष्य की पीढ़ियों में भी एक स्थान लेगी। यह इस संसार में प्रलय तक रहेगी।

प्रेमिका की अमरता
कवि आगे कहता है कि उसकी प्रेमिका न्याय करने वाले दिन के बाद तक भी रहेगी। वह इस कविता में हमेशा रहेगी और अपने प्रेमी की आँखों में हमेशा रहेगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Free Web Hosting