You cannot copy content of this page

NCERT class 11 English Hornbill Chapter 7 summary The Browning Version (notes) explained (translation) in hindi

The Browning Version Summary In English

This is an excerpt from Terence Rattigan’s play’i te Browning Version’. The scene is set in a good school. Taplow, a boy of sixteen has come in to do extra work for his master Mr. CrockerHarris. He has not yet arrived. Another master, Frank, younger in years than Mr. CrockerHarris finds Taplow waiting. Incidentally, it is the last day of the term.

Toplow is a student in the lower fifth form. He does not know whether he will get his division all right or not. He tells Frank that Mr. Crocker-Harris does not tell them the results like the other masters. Frank informs Taplow that there is a rule that form results should only be announced by the headmaster on the last day of the term. Taplow says that no one except Mr. Crocker-Harris pays attention to it.

Frank then asks Taplow what he would like to study if his result is favourable. Taplow indicates his preference for science. Frank remarks that they get all the slackers in science. Taplow disagrees with him and says that he is extremely interested in science. Frank observes frankly that he is not interested in the science he is to teach. Taplow, on the other hand, finds the study of Greek play ‘Agamemnon’ muck. His objection is to the way, the play is taught to them-just a lot of Greek words strung together and fifty lines if one gets them wrong. Taplow’s answers show that he is feeling a bit bitter. Frank is surprised that Taplow has come in to do extra work even on the last day of school. Taplow says that he missed a day last week when he was ill. So he has to put in extra work. The weather is quite fine and he might be playing golf. He knows that Mr. Crocker-Harris must be quite busy then as he is leaving the school for good the next day.

The conversation then shifts to Mr. Cocker-Harris. Taplow had asked him the previous day if he had given him a good division and he said that he had given Taplow exactly what he deserved-No less and certainly no more. Taplow is afraid that he might have marked him down, rather than up, for taking extra work. The man is hardly human. Frank then encourages Taplow to repeat the remarks of Mr. Crocker-Harris. Frank does not find his imitation up to the mark and asks him to read his Aeschylus and be quiet.

Frank suggests to Taplow that he might cut the class and play golf as Mr. Crocker-Harris has not turned up. Taplow is shocked at the suggestion as he can’t think of ever doing so. Frank envies Mr. Crocker-Harris for the effect he has on the boys. They seem scared to death of him. Taplow says that the Crock is not a sadist like other masters. He would not be so frightening if he were. It would then seem that he had some feelings. He seems dry like a nut and hates people to like him. Still Taplow likes him. Sometimes Mr Crocker-Harris sees it and he shrivels up even more.

Taplow then relates an incident when his master related one of his classical jokes in the class. Nobody laughed, as they couldn’t understand it. Taplow laughed as he knew he had meant it as funny. He felt sorry for his master for having made such a poor joke. Taplow has forgotten the joke, but offers to imitate the reaction of Mr Crocker-Harris. The laughter of Mr Frank encourages Taplow to do so. Frank seems to enjoy the joke and asks Taplow to tell it to others.

In the meanwhile Millie Crocker-Harris enters. Frank and Taplow are surprised to see her. Taplow is afraid that she might have overheard their joke. If she told her husband, Taplow’s division would be in danger. Frank dismisses his fear. Millie tells Taplow that her husband is at the Bursar’s and might be there quite a time. She says that if she were Taplow, she would go. Taplow is filled with doubt. He says that Mr Crocker-Harris had especially asked him to come. Millie then suggests that he might run away for a quarter of an hour and come back. Taplow is still uncertain and wonders what will happen, if he gets there before his arrival. Millie offers to take the blame. She then hands him over a prescription and asks him to go to the chemist and get it made up. Thus he can do a job for him. Taplow agrees and leaves the room.

The Browning Version Summary In Hindi

यह टेरेन्स रैटीगन के नाटक ‘ब्राउनिंग वर्शन’ का एक अंश है। दृश्य एक अच्छे विद्यालय में स्थित है। सोलह वर्षीय लड़का टैपलो, अपने अध्यापक मि० क्रोकर-हैरिस के लिए अतिरिक्त कार्य करने के लिये आया है। वह अभी वहाँ नहीं पहुँचा है। एक अन्य अध्यापक फ्रैंक, जो मि० क्रोकर हैरिस से आयु में छोटा है, टैपलो को प्रतीक्षा करते हुए पाता है। संयोगवश यह उस सत्र का अन्तिम दिवस है।

टैपलो निचली पाँचवी कक्षा का विद्यार्थी है। उसे यह नहीं पता कि उसे ठीक श्रेणी (डिवीजन) मिलेगी अथवा नहीं। वह फ्रेन्क को बताता है कि अन्य अध्यापकों की भाँति मि० क्रोकर-हैरिस उन्हें परिणाम नहीं बताता। फ्रैंक टैपलो को सूचित करता है कि एक नियम है कि कक्षा के परिणाम की घोषणा केवल मुख्य अध्यापक को ही सत्र के अन्तिम दिन करनी चाहिए। टैपलो कहता है कि मि० क्रोकर-हैरिस के अतिरिक्त कोई अन्य इस पर ध्यान नहीं देता।

फिर फ्रैंक टैपलो से पूछता है कि यदि उसका परिणाम सकारात्मक रहा तो वह क्या पढ़ना चाहेगा। टैपलो विज्ञान के प्रति अपनी पसन्द दर्शाता है। फ्रैंक कहता है कि उन्हें विज्ञान में सुस्त तथा कामचोर ही मिलते हैं। टैपलो उससे असहमत होता है तथा कहता है कि उसे विज्ञान में अत्यधिक रुचि है। फ्रैंक स्पष्ट रुप से कहता है उसे उस विज्ञान में कोई रूचि नहीं है तो उसे पढ़ाना पड़ता है। दूसरी ओर, टैपलो को यूनानी नाटक ‘अगमेमनॉन’ का अध्ययन अप्रिय लगती है। उसकी आपत्ति उस ढंग से है जिस ढंग से उन्हें नाटक पढ़ाया जाता है-केवल काफी यूनानी शब्द जिन्हें एक साथ पिरोया गया हो तथा पचास पंक्तियाँ (दण्ड स्वरूप) यदि कोई उनमें गलती कर दे। टैपलो का उत्तर दर्शाता है कि वह कुछ कड़वाहट से भरा हुआ है। फ्रैंक को यह जान कर आश्चर्य होता है कि विद्यालय के अन्तिम दिन भी टैपलो अतिरिक्त काम करने आया है। टैपलो कहता है कि पिछले सप्ताह वह एक दिन बीमार था, तो वह कक्षा में नहीं आ सका। अतः उसे अतिरिक्त काम करना पड़ेगा। मौसम काफी सुहावना है तथा वह गोल्फ खेल सकता था। वह जानता है कि मि० क्रोकर-हैरिस काफी व्यस्त होंगे क्योकि वह अगले दिन सदा के लिए विद्यालय छोड़ रहे होंगे।

फिर वार्तालाप मि० क्रोकर-हैरिस की ओर मुड़ जाता है। टैपलो ने उससे पिछले दिन पूछा था कि क्या उसने उसे अच्छी श्रेणी दे दी थी तथा उसने कहा कि उसने टैपलो को बिल्कुल वह ही दिया जिसके वह योग्य था—कुछ कम नहीं तथा निश्चय ही अधिक भी नहीं। टैपलो को भय है कि अतिरिक्त कार्य के कारण उसको अधिक अंकों के बजाय कम अंक मिलेंगे। वह व्यक्ति मानव भावनाओं से रहित है। फ्रैंक फिर टैपलो को प्रोत्साहित करता है कि वह मि० क्रोकर-हैरिस के कथन को दोहराया। फ्रैंक को यह नकल ठीक प्रतीत नहीं होती तथा वह उसे अपना आशईलस पढ़ने तथा चुप रहने को कहता है।

फ्रैंक टैपलो को सुझाव देता है कि वह छुट्टी मार ले तथा गोल्फ खेले क्योंकि मि० क्रोकर-हैरिस अभी तक नहीं आया है। टैपलो . को इस सुझाव से आघात लगता है क्योंकि वह ऐसा करने के लिए कभी सोच भी नहीं सकता। लड़कों पर उसके प्रभाव के कारण, फ्रैंक मि० क्रोकर-हैरिस से ईर्ष्या करता है। वे उससे भय के कारण कांपते हुए लगते हैं। टैपलो कहता है कि अन्य अध्यापकों की भाँति क्रोक परपीड़ा-प्रेमी नहीं है। यदि वह ऐसा होता तो इतना डरावना नहीं होता। तब ऐसा लगता कि उसमें कुछ भावनाएं हैं। वह तो एक अखरोट की भाँति सूखा लगता है तथा उसे पसन्द करने वालों से घृणा करता है। फिर भी टैपलो उसे पसन्द करता है। कई बार मि० क्रोकर-हैरिस इसे देख लेता है तथा और भी अधिक शुष्क हो जाता है।

टैपलो फिर एक घटना का वर्णन करता है जब उसके अध्यापक ने अपना एक उच्चकोटि का मज़ाक कक्षा में सुनाया। कोई भी नहीं हँसा, क्योंकि कोई भी इसे समझ नहीं पाया। टैपलो इसलिए हँस दिया क्योंकि वह जानता था कि वह इसे विनोदमय मानता था। ऐसे निम्न मजाक पर टैपलो को अपने अध्यापक के लिए खेद (अफसोस) हुआ। टैपलो वह मज़ाक तो भूल गया है किन्तु मि० क्रोकर हैरिस की प्रतिक्रिया की नकल उतारने की पेशकश करता है। मि० फ़ैन्क की हँसी उसे ऐसा करने को प्रोत्साहित करती है। फैन्क इस मज़ाक को पसन्द करता हुआ प्रतीत होता है तथा वह टैपलो को इसे अन्य लोगों को बताने को कहता है।

इसी बीच मिली क्रोकर-हैरिस प्रवेश करती है। उसे देखकर, फैन्क तथा टैपलो आश्चर्यचकित होते हैं। टैपलो को भय है कि उसने उसका मज़ाक सुन लिया होगा। यदि वह इसे अपने पति को बता देगी, तो उसकी श्रेणी खतरे में पड़ जाएगी। फ्रैंक उसके भय को महत्त्वहीन मानता है, मिली टैपलो को बताती है कि उसका पति बर्सर (कोषाधिकारी) के कार्यालय में है तथा वहाँ उसे काफी समय लग सकता है। वह कहती है कि यदि वह टैपलो के स्थान पर होती, तो वह चली जाती। टैपलो संदेह से भर जाता है। वह कहता है कि मि० क्रोकर-हैरिस ने विशेष रूप से उसे आने को कहा था। मिली फिर उसे सुझाव देती है कि वह पन्द्रह मिनट के लिए भाग जाए तथा लौट आए। टैपलो अभी भी अनिश्चय से भरा है तथा आश्चर्य करता है कि यदि वह उसके लौटने से पहले आ गया तो क्या होगा। मिली अपने ऊपर दोष लेने का प्रस्ताव करती है। फिर वह उसे दवाई का एक नुस्खा देती है तथा उसे औषधि विक्रेता के पास जाकर इसे बनवाने को कहती है। इस प्रकार वह उस (मि० क्रोकर-हैरिस) के लिए एक काम कर देगा। टैपलो सहमत हो जाता है तथा कक्ष से प्रस्थान करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Free Web Hosting