You cannot copy content of this page

NCERT Solutions for Class 10 Hindi chapter 8 कर चले हम फ़िदा

Page No 44:

Question 1:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

क्या इस गीत की कोई ऐतिहासिक पृष्ठभूमि है?

Answer:

यह गीत सन् 1962 के भारतचीन युद्ध की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर लिखा गया है। चीन ने तिब्बत की ओर से आक्रमण किया और भारतीय वीरों ने इस आक्रमण का मुकाबला वीरता से किया।

Question 2:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

सर हिमालय का हमने न झुकने दिया‘, इस पंक्ति में हिमालय किस बात का प्रतीक है?

Answer:

हिमालय भारत के मान सम्मान का प्रतीक है। भारतीय सैनिकों ने अपने प्राण गवाँकर देश के मानसम्मान को सुरक्षित रखा। भारत के सैनिक हर पल देश की रक्षा हेतु बलिदान देने के लिए तत्पर रहते हैं।

Question 3:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

इस गीत में धरती को दुल्हन क्यों कहा गया है?

Answer:

इस गीत में सैनिकों और भारत की भूमि को प्रेमीप्रेमिका के रुप में दर्शाया गया है। जिस प्रकार दूल्हे को दुल्हन सबसे प्रिय होती हैउसकी सुरक्षा की ज़िम्मेदारी वह बखूबी समझता हैठीक उसी प्रकार इस धरती रुपी दुल्हन पर सैनिक रुपी प्रेमी कभी विपत्ति सहन नहीं कर सकते। इसी समानता के कारण भारत की धरती को दुल्हन कहा गया है।

Question 4:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

गीत में ऐसी क्या खास बात होती है कि व जीवन भर याद रह जाते हैं?

Answer:

जिन गीतों में भावनात्मकतामार्मिकतासच्चाईगेयतासंगीतात्मकतालयबद्धता आदि गुण होते हैंवे गीत जीवन भर याद रहते हैं। कर चले हम फ़िदा‘ गीत में बलिदान की भावना स्पष्ट रुप से झलकती है। इसलिए यह किसी एक विशेष व्यक्ति का गीत न बनकर सभी भारतीयों का गीत बन गया।

Question 5:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

कवि ने साथियों‘ संबोधन का प्रयोग किसके लिए किया है?

Answer:

कवि ने साथियों‘ शब्द का प्रयोग सैनिक साथियों व देशवासियों के लिए किया है। सैनिकों का मानना है कि इस देश की रक्षा हेतु हम बलिदान की राह पर बढ़ रहे हैं। हमारे बाद यह राह सूनी न हो जाए। सभी सैनिकों व देशवासियों को इससे सतर्क रहना होगा?

Question 6:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

कवि ने इस कविता में किस काफ़िले को आगे बढ़ाते रहने की बात कही है?

Answer:

कवि चाहता है कि यदि सैनिकों की टोली शहीद हो जाएतो अन्य सैनिक युद्ध की राह पर बढ़ जाएँ। यहाँ देश की रक्षा करने वाले सैनिकों के समूह के लिए काफ़िले‘ शब्द का प्रयोग किया गया है।

Question 7:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

इस गीत में सर पर कफ़न बाँधना‘ किस ओर संकेत करता है?

Answer:

सर पर कफ़न बाँधना‘ का अर्थ है – हँसतेहँसते देश की रक्षा के लिए अपने जीवन को बलिदान करने के लिए तैयार रहना। वे शत्रुओं का मुकाबला निडरता पूर्वक करते हैं।

Question 8:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

इस कविता का प्रतिपाद्य अपने शब्दों में लिखिए?

Answer:

अपने देश के सम्मान और रक्षा के लिए सैनिक हर चुनौतियों को स्वीकार करके अपने जीवन का बलिदान करने के लिए तैयार रहते हैं। अपनी अंतिम साँस तक देश के मान की रक्षा कर उसे शत्रुओं से बचाते हैं। कवि इसमें देशभक्ति को विकसित करके देश को जागरुक करना चाहता है।

Question 1:

भाव स्पष्ट कीजिए 

साँस थमती गईनब्ज़ जमती गई

फिर भी बढ़ते कदम को न रुकने दिया

Answer:

इन पंक्तियों में कवि कैफ़ी आज़मी ने भारतीय जवानों के साहस की सराहना की है। चीनी आक्रमण के समय भारतीय जवानों ने हिमालय की बर्फ़ीली चोटियों पर लड़ाई लड़ी। इस बर्फ़ीली ठंड में उनकी साँस घुटने लगीसाथ ही तापमान कम होने से नब्ज़ भी जमने लगी परन्तु वे किसी भी बात की परवाह किए बिना आगे बढ़ते रहे और हर मुश्किल का सामना किया।

Question 2:

भाव स्पष्ट कीजिए 

खींच दो अपने खूँ से ज़मीं पर लकीर

इस तरफ़ आने पाए न रावन कोई

Answer:

यह गीत की प्रेरणा देने वाली पंक्तियाँ हैं। कवि का भाव है कि भारतभूमि सीता की तरह पवित्र है। अगर कोई शत्रु रुपी रावण उसकी तरफ़ बढ़ेगा तो अपने खून से लक्ष्मण (सैनिकरेखा खींच कर उसे बचाएँगे। अतदेश की रक्षा का भार उसी पर है।

Question 3:

छू न पाए सीता का दामन कोई

राम भी तुमतुम्हीं लक्ष्मण साथियों

Answer:

कवि सैनिकों को कहना चाहता है कि भारत का सम्मान सीता की पवित्रता के समान में है। देश की रक्षा करना तुम्हारा कर्त्तव्य है। देश की पवित्रता की रक्षा राम और लक्ष्मण की तरह करना है। अत: राम तथा लक्ष्मण का कर्त्तव्य भी हमें ही निभाना है।

Question 1:

इस गीत में कुछ विशिष्ट प्रयोग हुए हैं। गीत संदर्भ में उनका आशय स्पष्ट करते हुए अपने वाक्यों में प्रयोग कीजिए।

कट गए सरनब्ज़ जमती गईजान देने की रुतहाथ उठने लगे

Answer:

1. युद्ध क्षेत्र में शत्रुओं के कट जाए सर

2. डर के मारे सबकी नब्ज़ जम गई

3. शत्रु के हमले की जानकारी मिलते ही सब जान गए कि यह जान देने की रुत है।

4. स्टेज पर मंत्री के आते ही जयकारे के साथ हाथ उठने लगे

Question 1:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

क्या इस गीत की कोई ऐतिहासिक पृष्ठभूमि है?

Answer:

यह गीत सन् 1962 के भारतचीन युद्ध की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर लिखा गया है। चीन ने तिब्बत की ओर से आक्रमण किया और भारतीय वीरों ने इस आक्रमण का मुकाबला वीरता से किया।

Question 2:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

सर हिमालय का हमने न झुकने दिया‘, इस पंक्ति में हिमालय किस बात का प्रतीक है?

Answer:

हिमालय भारत के मान सम्मान का प्रतीक है। भारतीय सैनिकों ने अपने प्राण गवाँकर देश के मानसम्मान को सुरक्षित रखा। भारत के सैनिक हर पल देश की रक्षा हेतु बलिदान देने के लिए तत्पर रहते हैं।

Question 3:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

इस गीत में धरती को दुल्हन क्यों कहा गया है?

Answer:

इस गीत में सैनिकों और भारत की भूमि को प्रेमीप्रेमिका के रुप में दर्शाया गया है। जिस प्रकार दूल्हे को दुल्हन सबसे प्रिय होती हैउसकी सुरक्षा की ज़िम्मेदारी वह बखूबी समझता हैठीक उसी प्रकार इस धरती रुपी दुल्हन पर सैनिक रुपी प्रेमी कभी विपत्ति सहन नहीं कर सकते। इसी समानता के कारण भारत की धरती को दुल्हन कहा गया है।

Question 4:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

गीत में ऐसी क्या खास बात होती है कि व जीवन भर याद रह जाते हैं?

Answer:

जिन गीतों में भावनात्मकतामार्मिकतासच्चाईगेयतासंगीतात्मकतालयबद्धता आदि गुण होते हैंवे गीत जीवन भर याद रहते हैं। कर चले हम फ़िदा‘ गीत में बलिदान की भावना स्पष्ट रुप से झलकती है। इसलिए यह किसी एक विशेष व्यक्ति का गीत न बनकर सभी भारतीयों का गीत बन गया।

Question 5:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

कवि ने साथियों‘ संबोधन का प्रयोग किसके लिए किया है?

Answer:

कवि ने साथियों‘ शब्द का प्रयोग सैनिक साथियों व देशवासियों के लिए किया है। सैनिकों का मानना है कि इस देश की रक्षा हेतु हम बलिदान की राह पर बढ़ रहे हैं। हमारे बाद यह राह सूनी न हो जाए। सभी सैनिकों व देशवासियों को इससे सतर्क रहना होगा?

Question 6:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

कवि ने इस कविता में किस काफ़िले को आगे बढ़ाते रहने की बात कही है?

Answer:

कवि चाहता है कि यदि सैनिकों की टोली शहीद हो जाएतो अन्य सैनिक युद्ध की राह पर बढ़ जाएँ। यहाँ देश की रक्षा करने वाले सैनिकों के समूह के लिए काफ़िले‘ शब्द का प्रयोग किया गया है।

Question 7:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

इस गीत में सर पर कफ़न बाँधना‘ किस ओर संकेत करता है?

Answer:

सर पर कफ़न बाँधना‘ का अर्थ है – हँसतेहँसते देश की रक्षा के लिए अपने जीवन को बलिदान करने के लिए तैयार रहना। वे शत्रुओं का मुकाबला निडरता पूर्वक करते हैं।

Question 8:

निम्नलिखित प्रश्न का उत्तर दीजिए 

इस कविता का प्रतिपाद्य अपने शब्दों में लिखिए?

Answer:

अपने देश के सम्मान और रक्षा के लिए सैनिक हर चुनौतियों को स्वीकार करके अपने जीवन का बलिदान करने के लिए तैयार रहते हैं। अपनी अंतिम साँस तक देश के मान की रक्षा कर उसे शत्रुओं से बचाते हैं। कवि इसमें देशभक्ति को विकसित करके देश को जागरुक करना चाहता है।

Question 1:

भाव स्पष्ट कीजिए 

साँस थमती गईनब्ज़ जमती गई

फिर भी बढ़ते कदम को न रुकने दिया

Answer:

इन पंक्तियों में कवि कैफ़ी आज़मी ने भारतीय जवानों के साहस की सराहना की है। चीनी आक्रमण के समय भारतीय जवानों ने हिमालय की बर्फ़ीली चोटियों पर लड़ाई लड़ी। इस बर्फ़ीली ठंड में उनकी साँस घुटने लगीसाथ ही तापमान कम होने से नब्ज़ भी जमने लगी परन्तु वे किसी भी बात की परवाह किए बिना आगे बढ़ते रहे और हर मुश्किल का सामना किया।

Question 2:

भाव स्पष्ट कीजिए 

खींच दो अपने खूँ से ज़मीं पर लकीर

इस तरफ़ आने पाए न रावन कोई

Answer:

यह गीत की प्रेरणा देने वाली पंक्तियाँ हैं। कवि का भाव है कि भारतभूमि सीता की तरह पवित्र है। अगर कोई शत्रु रुपी रावण उसकी तरफ़ बढ़ेगा तो अपने खून से लक्ष्मण (सैनिकरेखा खींच कर उसे बचाएँगे। अतदेश की रक्षा का भार उसी पर है।

Question 3:

छू न पाए सीता का दामन कोई

राम भी तुमतुम्हीं लक्ष्मण साथियों

Answer:

कवि सैनिकों को कहना चाहता है कि भारत का सम्मान सीता की पवित्रता के समान में है। देश की रक्षा करना तुम्हारा कर्त्तव्य है। देश की पवित्रता की रक्षा राम और लक्ष्मण की तरह करना है। अत: राम तथा लक्ष्मण का कर्त्तव्य भी हमें ही निभाना है।

Question 1:

इस गीत में कुछ विशिष्ट प्रयोग हुए हैं। गीत संदर्भ में उनका आशय स्पष्ट करते हुए अपने वाक्यों में प्रयोग कीजिए।

कट गए सरनब्ज़ जमती गईजान देने की रुतहाथ उठने लगे

Answer:

1. युद्ध क्षेत्र में शत्रुओं के कट जाए सर

2. डर के मारे सबकी नब्ज़ जम गई

3. शत्रु के हमले की जानकारी मिलते ही सब जान गए कि यह जान देने की रुत है।

4. स्टेज पर मंत्री के आते ही जयकारे के साथ हाथ उठने लगे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Free Web Hosting