You cannot copy content of this page

Sanskrit translation of chapter 1 शब्दपरिचयः 1 in hindi class 6

शब्दपरिचयः I


(क) एष: कः?
एष: चषक:।
किम्‌ एष: बृहत्‌?
ने, एषः लघुः।

सरलार्थ-

यह कौन (क्या , पंल्लिङ्ग के लिए) है ?
यह गिलास है ।
क्या यह बड़ा है ?
नहीं , यह छोटा है ।


(ख) सः क:?
स: सौचिक :।
सौचिक : कि करोति?
किं स: खेलति?
न, सः वस्त्रं सीव्यति।

सरलार्थ-

वह कौन है ?
वह दर्जी है ।
दर्जी क्या करता है ?
क्या वह खेलता है ?
नहीं , वह कपड़ा सीता है ।

 


(ग) एतौ कौ?
एतो शुनकौ स्त:।
किम्‌ एतो गर्जत:?
न , एतौ उच्चै: बुक्कत:।

सरलार्थ-

ये (दो) कौन हैं ?
ये (दो) कुत्ते हैं ।
क्या ये (दोनों) गरजते हैं ।
नहीं , ये (दोनों) जोर से भौकते हैं ।

 


(घ) तौ कौ ?
तौ बलीवर्दौ स्तः।
किंं तो धावत:?
न, तौ क्षेत्रं कर्षत:।

सरलार्थ-

वें (दो) कौन हैं ?
वे (दोनों) बैल हैं ।
क्या वे दौड़ रहे (दैड़ते) है ।
नहीं , वे (दोनों) खेत जोत रहे (जोतते) हैं ।

 


(ङ) एते के?
एते स्यूता: सन्ति।
किम्‌ एते हरितवर्णा:?
नहि, एते नीलवर्णा: सन्ति।

सरलार्थ-

ये (सब) कैम है ?
ये थैले हैं ।
क्या ये हरे रंग के हैं ।
नहीं , ये नीले रंग के हैं ।

 


(च) ते के?
ते वृद्धा: सन्ति।
कि ते गायन्ति?
नहि ते हसन्ति।

सरलार्थ-

 

 


 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Free Web Hosting